fbpx

गुमसुम चाँद


चाँद बैठा है गुमसुम रुला न देना
बादल छुपने से पहले बुला न देना….!!!

कितनी रातें जागे दोनों साथ-साथ
बातें करने से पहले सुला न देना…..!!!

सारी यादों की टोकरी अपने सर लादे….
जेहन उतारने से पहले भुला न देना….!!!

आंशू कुछ उसके भी कुछ तेरे भी….
अलग होने से पहले घुला न देना….!!!


©खामोशियाँ 
Share

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *